Current Affairs For India & Rajasthan | Notes for Govt Job Exams

सगे भाई सहित 20 रिश्तेदारों के लिए डमी बन चुका, इनमें 16 परीक्षाएं राजस्थान और 4 केंद्र की चीटर टीचर, 20 अभ्यर्थियों की जगह परीक्षा में बैठा, 5 को नौकरी दिलाई, RPSC इंटरव्यू में भी

FavoriteLoadingAdd to favorites

डमी कैंडिडेट बन 20 परीक्षाएंदेने वाले दौसा के थर्ड ग्रेड शिक्षकरोशनलाल मीणा को बुधवार कोएसओजी ने गिरफ्तार किया है। वह प्रदेशकी 16 और केंद्र की 4 परीक्षाओं में डमीके तौर पर बैठ चुका । सगे भाई सहित5 रिश्तेदारों को तो सरकारी नौकरी तकदिलवा चुका डमी बनने के लिए वहहर परीक्षा के लिए 5 से 6 लाख रुपएलेता था। खुद 4 बार आरएएस मुख्यपरीक्षा पास कर चुका लेकिन इंटरव्यू मेंरह गया। एटीएस एसओजी के एडीजीवीके सिंह ने बताया- रोशनलाल 2017में सरकारी शिक्षक बना था। अभी वहमहात्मा गांधी अंग्रेजी मीडियम स्कूलप्यारीवास (दौसा) में थर्ड ग्रेड टीचर है।डीआईजी परिस देशमुख ने बताया-रोशनलाल 2013 से डमी कैंडिडेटबन परीक्षाएं दे रहा था। 2018 में भाईमनीष मीणा की जगह राजस्थान पुलिसकी आईबी यूनिट की परीक्षा दी, चयनभी कराया। क्लर्क भर्ती परीक्षा 2018में दूसरे भाई दिनेश का चयन कराया।2021 में मनीष के लिए एसआई परीक्षापास की, पर वह फिजिकल में रह गया।मनीष के मामा महेश का भी एलडीसीमें चयन कराया। भाई सागर को परीक्षादेकर पटवारी बनवा दिया। अब ये सभीचयनित आरोपी फरार हो गए हैं।• पेपर लीक को लेकर एसओजी को अबतक लगभग 400 शिकायतें मिल चुकी हैं।रोशन की गारंटी : 5 लाख में चयनइम्तिहान का खिलाड़ीएसओजी की टीम स्कूल पहुंचीतो स्टाफ ने कहा- सरकारीनौकरी पानी है तो टीचररोशनलाल मीणा से मिलोतरीका ये… आधी अपनी वीअभ्यर्थी की जोड़कर फोटो बनाताडीआईजी योगेश दाधीच ने बताया कि रोशन फोटोशॉपएप से आधी खुद की व आधी अभ्यर्थी की मिलाकर एकफोटो बनाता था। वह अभ्यर्थी व उसके चेहरे, दोनों सेमिलती-जुलती दिखती थी। इसे प्रवेश पत्र पर चिपका करनया प्रवेश पत्र बनाता था। परीक्षा केंद्र में फोटो के मिलानके समय हर बार पुरानी फोटो बताकर बदलाव का झांसादेता और परीक्षा देने में सफल हो जाता था। उसने 20परीक्षाओं में बैठकर 1 करोड़ रुपए कमाए थे।आगे क्या : इंटरव्यू का बैच भी रडार पररोशन ने 2018 में एसआई मनीष मीणा के लिए परीक्षाव इंटरव्यू भी दिया था। दोनों में पास कराया। अबआरपीएससी का वह इंटरव्यू बैच भी एसओजी केरडार पर है। मनीष के भाई दिनेश की जगह परीक्षा देकरएलडीसी बनवाया। एसआई परीक्षा- 2021 में मनीष केभाई दीपक को पास कराया। फिजिकल में फेल हुआतो 5 लाख रु. वापस लेने के लिए मनीष ही रोशन कोब्लैकमेल करने लगा और मामला खुल गया।रविकास प्राधिकरण का कारनामाडमी बन बोर्ड को चकमा … गिरफ्तारइधर एसआई भर्ती – 2021 में 44 ट्रेनी और रडार परसंदिग्ध 12 एसआई गिरफ्तार,बोले- लीक पेपर से पास हुएभास्कर न्यूज | जयपुरएसआई भर्ती परीक्षा- 2021 में पेपरलीकव डमी कैंडिडेट मामले में एसओजीने बुधवार को 11 ट्रेनी एसआई औरएक चयनित जोधपुर में कांस्टेबल कोगिरफ्तार किया। एसओजी एक दिनपहले ही एसआई ट्रेनिंग सेंटर से 15ट्रेनी को पूछताछ के लिए लाई थी। इनसेपूछताछ के बाद ये गिरफ्तारियां हुई हैं।पूछताछ में इन्होंने माना कि लीक पेपरसे पास हुए थे। दो महिला ट्रेनी ने बतायाकि डमी कैंडिडेट ने उनकी जगह परीक्षादी थी। इन्होंने इसके लिए 20-20लाख रुपए दिए थे।एडीजी एसओजी वीके सिंह नेबताया कि सुरेंद्र कुमार निवासी धोंदसीकर (रैंक 3), दिनेश निवासीभगतासनी जोधपुर (रैंक 6), मालाराम निवासी कल्याणपुर बाड़मेर (रैंक10), राकेश कुमार निवासी बगडझुंझुनूं (रैंक 13 ), सुभाष निवासीजोधपुर (रैंक 28 ), अजय निवासीविनायकपुरा जोधपुर (रैंक 55 ), जयराम सिंह निवासी देशनोक – बीकानेर(रैंक 79), मनीष निवासी बीकानेर(रैंक 100), मंजू निवासी बाड़मेर(रैंक 411), चेतन सिंह निवासीटॉक (रैंक 610), हरखू निवासीबाड़मेर (रैंक 1655) और जोधपुरमें कांस्टेबल अभिषेक (रैंक 8) कोगिरफ्तार किया है। अभिषेक ने एसआईट्रेनिंग ज्वॉइन नहीं की थी।बता दें कि मामले में राजस्थानपुलिस अकादमी से अब तक कुल32 एसआई को गिरफ्तार किया जाचुका है। एसओजी ने पहले चरण में40 ट्रेनी एसआई को चिह्नित कियाथा। अन्य 44 एसआई को संदिग्धमाना है। पेपर लीक के 7 आरोपी भीगिरफ्तार किए जा चुके हैं। मामले कीजांच में जुटे एडिशनल एसपी रामसिंह शेखावत, भवानी शंकर मीणा,चिरंजी लाल मीणा, की टीम अबपुलिस ट्रेनिंग सेंटर से अन्य ट्रेनी कोभी उठा सकती है।भास्कर सवाल32 ट्रेनी गिरफ्तार, SOG कह रहीपेपरलीक हुआ, फिर एसआई भर्तीरद्द क्यों नहीं होनी चाहिए ?…..लेकिन योग्य अभ्यर्थियों से अन्याय न होये 12 ट्रेनी एसआई हुए गिरफ्तार

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top