Current Affairs For India & Rajasthan | Notes for Govt Job Exams

बीकानेर सौर ऊर्जा में सिरमौर

FavoriteLoadingAdd to favorites

8 हजार बीघा में लगेंगे 9640 नए सोलर प्लांट, 13964 मेगावाट के साथ विश्व में अव्वल होगा संभावनाओं का राजस्थान…7 बीकानेर इसलिए बनेगा नंबर वन 15000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। 365 दिन सूर्य की रोशनी मिलती है। गर्मी में 45 डिग्री तापमान । नवीन शर्मा | बीकानेर, सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन में बीकानेर विश्व में सिरमौर बनेगा। अभी 4324 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन हो रहा है। कुछ साल में बीकानेर 13964 मेगावाट सौर ऊर्जा देने वाला विश्व का पहला जिला बन जाएगा। इसके लिए 9640 मेगावाट के सोलर प्लांट लगाने का काम प्रोसेस में है। इसमें 5190 मेगावाट की परियोजनाएं निजी क्षेत्र की हैं। इसके लिए 30 से ज्यादा कंपनियां रजिस्ट्रेशन करवा चुकी हैं। पूगल में राज्य विद्युत उत्पादन निगम 2 हजार मेगावाट का सोलर प्लांट लगाने जा रहा है। इसके लिए बांदरवाला 1 मेगावाट के प्लांट के लिए 4 बीघा जमीन चाहिए । यहां बड़ी संख्या में बंजर भूमि है। अभी जोधपुर पहले व बीकानेर दूसरे नंबर पर है। फलौदी के भड़ला में 2245 मेगावाट का विश्व का सबसे बड़ा प्लांट है, 2027 में बीकानेर में होगा। हो चुका है। इसमें से 800 मेगाव और रामसर गांव में जमीन का अलाटमें बिजली के लिए कोल इंडिया कंप और सरकार के बीच एमओयू हुआ प्रोडक्शन 2024 के अंत तक शुरू जाएगा। दूसरे चरण में 1200 मेगा पर काम होगा। इसके अलावा राजस सोलर डेवलपमेंट कंपनी लिमिटेड में एक-एक हजार और छत्तरगढ़ में मेगावाट का प्लांट लगाएगी। आबंटन का काम प्रोसेस में है। आ 17292 बीघा पर प्लांट लग चुके हैं। 38560 बीघा में औ हैं। कुल 55852 बीघा जमीन सोलर प्लांट के काम आए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top