Current Affairs For India & Rajasthan | Notes for Govt Job Exams

एसओजी की जांच में पकड़ा गया डमी परीक्षा देने वाला शिक्षक, स्टेट की 16 व केंद्र की 4 परीक्षा में डमी बैठ चुका है

FavoriteLoadingAdd to favorites

20 बार डमी परीक्षा दी फिर भी पकड़ में नहीं आया, 10वीं-12वीं में स्कूलटॉपर था, 4 बार आरएएस पेपर दिया, दो बार इंटरव्यू भी पास कर चुका थाभास्कर न्यूज | नांगल राजावतान (दौसा)नांगलराजावतान उपखंड मुख्यालय के महात्मागांधी राजकीय विद्यालय प्यारीवास के लेवलफर्स्ट अध्यापक रोशन लालमीणा को एसओजी ने डमीअभ्यर्थी बनकर परीक्षा मेंबैठने के आरोप में गिरफ्तारकिया है। वह होशियार वशातिर भी अव्वल दर्जेका है। पढ़ाई में शुरू से हीमेधावी रोशन ने कक्षा 10वींव 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में भी स्कूल टॉप करकेमाता-पिता का नाम रोशन किया था, मगर नकलरोशन मीणागैंग में जुड़कर नौकरियों के फर्जीवाड़े में नाम आनेपर अब गांव व घरवाले भी शर्मसार हुए हैं। वहखुद और अभ्यर्थी के दो फोटो मिलाकर उन्हें एककर परीक्षा में डमी बनकर बैठ जाता था औरवीक्षकों को पता तक नहीं चलता था।पढ़ाई में शुरू से होशियार होने से रोशनलाल नेखुद चार बार आरएएस की एग्जाम दी दो बार तोवह प्री व मेन पास करने के बाद इंटरव्यू तक पहुंचचुका, मगर सफल नहीं हो सका। आखिर सातसाल पहले वह थर्ड ग्रेड शिक्षक पद पर सरकारीनौकरी लगा। उसके बाद अपने छोटे भाई कंचनकी भी पटवारी पद पर नौकरी लगवाई। इसी प्रकारनजदीकी परिजन, मित्र व रिश्तेदारों के लिए करीब20 परीक्षाओं में डमी अभ्यर्थी के रूप में बैठा,जिनमें से फिलहाल पांच जने सरकारी नौकरियोंमें सेवारत हैं। उनकी भी जांच में अब एसओजीदस्तावेज खंगालने के साथ ही पड़ताल में जुट गईहै। बहरहाल, तीन में से दो सरकारी नौकर बेटों पहले कच्चे घर में रहता था, नौकरी लगने के बाद नया बनवायाका पिता श्रीनारायण मीना परिवार की पहले से हीमाली हालत के चलते आज भी खेत बंटाई पर करमजदूरी को मजबूर हैं।दो बेटों के नौकरी लगने के बाद ढाणी में कच्चेघरौंदा को फोड़कर तीन भाइयों के लिए 2014में अर्धनिर्मित दो मंजिला मकान का रिनोवेशनकराया। इसके लिए भी रोशन द्वारा 15 लाख रुपएका पर्सनल लोन लेने की जानकारी सामने आई।इस मकान में परिवार संयुक्त रूप से रहता है।हालांकि रंगाई-पुताई का भी काम अधूरा है। घरके मुख्य द्वार पर गेट भी नहीं लगा है। शिक्षक केपरिवार की सामान्य जीवन शैली है। भास्कर टीमबुधवार शाम को उनके घर पहुंची तो शिक्षक केपिताखेत में थ्रेसर से गेहूं निकलवाने गए हुएघर पर छोटा भाई व अन्य लोग मिले।थे।दरअसल, एसआई भर्ती परीक्षा में नकल वडमी अभ्यर्थी मामले में एसओजी की प्रदेशभर मेंसघन छापेमारी व जांच प्रक्रिया चल रही है। इसीकड़ी में एसओजी को डमी अभ्यर्थी की जांच मेंसरकारी टीचर रोशनलाल से पूछताछ में पता चलाकि वह राज्य की 16 व केंद्र की 4 यानी कुल20 से अधिक परीक्षाओं में डमी कैंडिडेट के रूपमें परीक्षा दे चुका है। फिलहाल, उसके छोटे भाईसहित पांच नजदीकी रिश्तेदार सरकारी नौकरी कररहे हैं। इनमें खुद का छोटा भाई पटवारी कंचन मीनाभी शामिल है। उल्लेखनीय है कि राजगढ़ चुरू कीएसओजी टीम ने आरोपी शिक्षक को स्कूल सेमंगलवार सुबह 10:25 बजे गिरफ्तार किया था।गिरफ्तारी के बाद उसके घर जाकर दस्तावेजों कीभी जांच की। इससे ढाणी में सनसनी फैल गई।नांगल राजवतान। आरोपी का पुराना कच्चा घर (बाएं) अब वह नए घर में रह रहा था।डमी अभ्यर्थी बनकर एसआई परीक्षा पास कर इंटरव्यू भी दियाराजस्थान पुलिस की आईबी यूनिट में तैनातवर्ष 2018 एसआई भर्ती के चयनित मनीषमीना के लिए रोशनलाल ने न केवल डमीके रूप में परीक्षा पास की, बल्कि उसकेलिए इंटरव्यू तक दिया। फैक फोटो बनाकरवह ऐसा करता था। इतना ही नहीं इंदावा केमनीष के सगे भाई दिनेश मीना को एलडीसीबनवाया। वर्ष 2021 में मनीष मीना के भाईदीपक मीना के लिए एसआई भर्ती परीक्षातिजारा में पहली पोस्टिंग और प्यारीवासरोशन लाल मीणा, महात्मा गांधी विद्यालयमें गणित विषय का अध्यापक होने के साथही पोषाहार प्रभारी भी था। वह वर्ष 2017 मेंअध्यापक पद पर तिजारा अलवर में तृतीयश्रेणी के पद पर लगा था। 5 अक्टूबर 2023डमी अभ्यर्थी के रूप में भी दी थी। जोपरीक्षा में तो पास हो गया, लेकिन फिजिकलमें फेल हो गया था। मनीष के मामा महेशमीना के लिए भी आरोपी परीक्षा में बैठा था।महेश मीना वर्तमान में दौसा में एलडीसीहै। इसी प्रकार सागर मीना के लिए पटवारीकी परीक्षा दी। अपने छोटे भाई कंचन जो,वर्तमान में अलवर जिले में पटवारी के पदपर कार्यरत है।स्कूल में रोशन का दूसरा पदस्थापनको महात्मा गांधी अंग्रेजी विद्यालय प्यारीवासमें इंटरव्यू के बाद पदस्थापन हुआ। जोमानपुरिया कोठ्या ढाणी से महज तीन किमीदूरी पर ही है। इस कार्रवाई से स्कूल प्रबंधनके बीच भी खलबली मच गई।छोटे भाई ललित मीना की जुबानी, एसआईबना मनीष मीना ब्लैकमेल कर रहा था12वीं पास सबसे छोटे भाई ललित मीना का कहना हैकि बड़े भाई रोशन ने 2006 में दसवीं और 2008 मेंबारहवीं पास की। फिर बीएसटीसीकर ली और शिक्षक की नौकरी लगगई। उसने बताया कि लालसोट केपास इंदावा निवासी सब इंस्पेक्टर मेंचयनित मनीष मीना उनके बड़े भाईरोशन को ब्लैक मेल कर रहा था।रोशन टीचर बनने के बाद गर्मियों की छुट्टियों में जयपुरमें रहकर आरएएस की तैयारी कर रहा था। भाई को पढ़ाईमें होशियार देख मनीष ने उसको झांसे में लिया औरउसे अब फंसाया गया है। रोशन पहले पहले ग्रुप डी कीनौकरी कर चुका, फिर रेलवे गार्ड की ज्वॉइन नहीं की।अंत में आरएएस नहीं बना तो टीचर बन गया। हालांकि,उसके बाद भी दो बार आरएएस दिया। 2022 की भर्तीमें 1600वीं रैंक आई थी। बीच वाला भाई कंचन मीणा,फिलहाल गोला का वास अलवर में कार्यरत है। जबकि,आरोपी शिक्षक रोशन लाल मीना वर्ष 2017 से सरकारीतृतीय श्रेणी अध्यापक के रूप में पदस्थ होने के बादवर्तमान में राजकीय महात्मा गांधी विद्यालय प्यारीवास मेंकार्यरत है। उसने गांव में कोई दोस्त भी नहीं बना रखे हैं।प्यारीवास स्कूल में शिक्षक है, निलंबित होगाजिला शिक्षा अधिकारी घनश्याम मीणा ने बताया किमहात्मा गांधी राजकीय विद्यालय प्यारी वास में थर्ड ग्रेडअध्यापक रोशन लाल मीणा को एसओजी ने गिरफ्तारकर लिया। इसको लेकर निलंबन की कार्रवाई के लिएविभागीय उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट दी गई है।| पलिस आरास्सी और होमगार्ड के 956 में से 382

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top